Stock Market में Bull market & Bear market क्या है? - पूरी जानकारी

Bull market and Bear Market in Hindi: अगर आप शेयर बाजार के बारे में थोड़ा बहुत भी जानते है तो आपने बुल मार्केट और बीयर मार्केट का नाम तो सुना ही होगा पर क्या आपको पता है बीयर और बुल मार्किट क्या होते है इनका क्या मतलब होता है और रहे शेयर बाजार के लिए क्यू जरूरी है ? रहे सब हम इस ब्लॉग में जानेंगे

Scam 1992 Webseries में भी आपने बीयर मार्केट और बुल मार्केट के बारे में जरूर सुना होगा और जानने का मन किया होगा की रहे होता क्या है तो आप बिलकुल सही जगह आए है Insidergyan.com के इस ब्लॉग में हम बात करेंगे शेयर बाजार के बीयर और बुल मार्केट के बारे में हिंदी में।

बुल मार्केट क्या है? - What is Bull Market in Hindi

bear market and bull market in Hindi

Bull market Yat Bull run - बुल मार्केट शेयर बाजार की वह स्थिति है जब बाजार काफी तेज़ी से बढ़ता ही चला जाता है और अपना नया उत्तम स्तर (All Time High) बनाता जाता है, शेयर बाजार की इस स्थिति में बेचने वालो की संख्या कम और शेयर खरीदने वालो की संख्या अधिक होती है।

बुल मार्केट नए निवेशकों को शेयर बाजार की ओर आकर्षित करता है और अधितकर नए निवेशक बुल मार्केट में ही शेयर बाजार में आते है और बिना किसी नॉलेज और अनुभव के साथ शेयर बाजार से अच्छा पैसा कमाते है परंतु रहे खुशी ज्यादा दिन नहीं रहती अगर नए निवेशक बिना नॉलेज के आधा धुन ऐसा करते रहते है तो उन्हें बीयर मार्केट में एक बड़े नुकसान का सामना करना पड़ता है और आधे से ज्यादा नए निवेशक बीयर मार्केट में शेयर बाजार को जुआ बोल कर इस से दूर चले जाते है।

बुल मार्केट बीयर मार्केट के बाद शुरू होता है जब बाजार बुरी तरह से गिरा हुआ होता है और मजबूत होता है। बुल मार्केट में हम देश की अर्थव्यवस्था को भी बढ़ते हुए देखते है और बुल मार्केट में शेयर बाजार को हम एक नया All time high बनाते देखते है बुल मार्केट में सब निवेशकों का नुकसान रिकवर हो जाता है।

बीयर मार्केट क्या है? - What is Bear Market in Hindi

What is Bear Market in Hindi

बीयर मार्केट क्या होता है: बीयर मार्केट बुल मार्केट का बिलकुल उल्टा रहता है. बीयर मार्केट बुल मार्केट के बाद शुरू होता है जब शेयर बाजार काफी ज्यादा बढ़ गया होता है और कमजोर होता है कमजोर होने से मतलब रहा रहे है की शेयर बाजार में खरीदने वालो से ज्यादा बेचने वालो की संख्या होना।

बीयर मार्केट में हम शेयर बाजार को तेजी से गिरते हुए देखते है बीयर मार्केट में नए निवेशक गलती करते है वह मार्केट को गिरता देख अपने शेयर्स लॉस में बेचना शुरू करते है और वही समझदार निवेशक इसे बीयर मार्केट में शेयर्स खरीदना शुरू करते है क्युकी उन्हें पता होता है की बुल मार्केट में मार्केट वापस ऊपर जायेगा और अभी उन्हें सारे शेयर्स बहुत ही कम दाम में मिल रहे है।

बीयर मार्केट में शेयर बाजार एक दम उपर से नीचे गिरना शुरू होता है ऐसा इसलिए होता है क्युकी इस समय खरीदने वालो से ज्यादा बेचने वालो की तादाद ज्यादा होती है बीयर मार्केट में काफी लोगो को भरी नुकसान का सामना करना पड़ता है रहे नॉलेज की कमी के कारण होता है।

Bull Market और Bear market का प्रमुख करना

बुल मार्केट और बीयर मार्केट दोनो का होना शेयर बाजार के लिए जरूरी होता है। बुल मार्केट के बाद शेयर बाजार कमजोर हो जाता है क्युकी इस समय सभी को अच्छा मुनाफा हो रहा होता है और सब अपने शेयर बेच कर अपना प्रॉफिट निकालना चाहते है ऐसे में शेयर बाजार में बेचने वालो की संख्या ज्यादा हो जाती है और शेयर बाजार कमजोर हो जाता है ऐसे में बीयर मार्केट अपना काम शुरू कर देता है बीयर मार्केट में शेयर बाजार तेज़ी से गिरता जरूर है परंतु गिरने के साथ शेयर बाजार मजबूत होता है और वापस ऊपर जाने को त्यार हो जाता है।

बीयर मार्केट का प्रमुख कारण – बीयर मार्केट के होने के बहुत से कारण हो सकते है जैसे किसी बड़े निवेश द्वारा अपने सारे शेयर बेच देना, दुनिया में आर्थिक मंदी होना, या कोरोना जैसे कोई महामारी का आ जाना ऐसे में शेयर बाजार को काफी नुकसान का सामना करना पड़ता है और शेयर बाजार काफी तेज़ी से गिरना शुरू हो जाता है जिसे हम बीयर मार्केट भी कहते है।

जैसे जैसे मार्केट गिरने लगता है नए निवेशक डर जाते है और डर के मारे अपने सारे शेयर्स बेचना शुरू कर देते है जिस से शेयर बाजार और गिर जाता है। इसके अलावा बीयर मार्केट के आने का एक करना मनोविज्ञान भी है बुल रन के बाद बीयर मार्केट आता है रहे सब को पता रहता है और बुल मार्केट में लोगो को अच्छा मुनाफा मिल जाता है और सब ऐसा सोचते है की अब बीयर मार्केट आने वाला है और शेयर बाजार तेज़ी से गिरेगा इसी सोच में सब अपने शेयर्स बेचना शुरू कर देते है और सोचते है की बीयर मार्केट में वापस खरीद लेंगे।

बुल मार्केट का प्रमुख कारण – बीयर मार्केट के बाद शेयर बाजार काफी ज्यादा गिर जाता है जिस से हम शेयर्स काफी कम कीमत में मिलने लगते है। ऐसे में बड़े निवेशक और छोटे निवेशक दोनो ही शेयर्स खरीदना शुरू कर देते है जिस से बाजार में खरीदने वालो की संख्या काफी ज्यादा हो जाती है और बेचने वालो की काम जो की बुल मार्केट के शुरू होने की निशानी है।

बीयर और बुल मार्केट के करन शेयर मार्केट में क्या फरक पड़ा है?

बीयर मार्केट में शेयर बाजार काफी ज्यादा गिर जाता है जिस से देश की अर्थव्यवस्था भी गिर जाती है इसके साथ ही बीयर मार्केट में काफी ज्यादा निवेशकों को बहुत बारी नुकसान का सामना करना पड़ता है। आपने काफी लोगो को रहे कहते सुना होगा की उसके पास एक समय में बहुत सारा पैसा हुआ करता था पर शेयर बाजार की वजह से वो आज गरीब बन गया और उसके पास खाने तक के पैसे नहीं रहे शेयर बाजार के बीयर मार्केट की वजह से होता है परन्तु शेयर बाजार का बीयर मार्केट इतना डरावना नहीं होता अगर आपको बीयर मार्केट में भरी नुकसान हो रहा हो तो अपने शेयर्स को बेचे ना और शेयर्स खरीदे जिस से आपकी पर शेयर की प्राइस एवरेज हो जाए आपका सारा नुकसान बुल मार्केट में मुनाफे में बदल जायेगा।

बुल मार्केट काफी लोगो को करोड़ पति बना देता है रहे एक ऐसा समय होता है जब हर कोई शेयर बाजार से पैसे कमाता है चाहे उसे शेयर बाजार की बिलकुल भी समझ ना हो ऐसे में सब अपने आपको अगला बिग बुल समझते है जैसे वो ही अगले हर्षद मेहता है। रहे बात थोड़ी मजाकिया हो सकती है परंतु रहे सच है रहे में अपने निजी अनुभव से बता रहा हु परंतु ऐसे लोग बीयर मार्केट में भरी नुकसान का सामना करते है।


आज हमने क्या सीखा?

आज हमने शेयर बाजार के दो पहलू बीयर मार्केट और बुल मार्केट के बारे में सीखा है वो भी हिंदी में अगर आपको रहे ब्लॉग पसंद आया हो तो इसे आपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे ताकि वो भी अपनी शेयर बाजार की नॉलेज को बड़ा सके। उम्मीद है आप अब शेयर बाजार के बीयर मार्केट और बुल मार्केट के बारे में अच्छे से समझ गए होगे फिर भी अगर आपका कोई भी सवाल है तो आप हम से कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

एक टिप्पणी भेजें