डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट क्या होता है? - Demat & Trading Account in Hindi

क्या आप भी शेयर बाजार में निवेश करने का सोच रहे है ? अगर हा तो आपको पता ही होगा शेयर बाजार में निवेश करने के लिए आपको Demat account और Trading account की जरूरत पड़ती है इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे की Demat account क्या होता है और treading account क्या होता है?

What are Demat Account and Trading Account

Demat account एक प्रकार का बैंक account ही होता है जैसे बैंक Account में हम अपने पैसे जमा करते है ठीक उसी तरह Demat account में हम अपने शेयर बाजार से खरीदे हुए शेयर्स जमा करते है। शेयर बाजार में निवेश करने के लिए Demat account का होना आवश्यक होता है।

Trading account शेयर बाजार और आपके Demat account के बीच की एक कड़ी होती है। शेयर बाजार में निवेश करने के लिए जैसे Demat account जरूरी है वैसे ही Trading account भी जरूरी होता है। Trading account शेयर्स की लेन देन करने का काम करता है रहे आपके द्वारा शेयर बाजार से खरीदे हुए शेयर्स को आपके Demat account में जमा करता है।

Demat & Trading Account in Hindi

डीमैट अकाउंट क्या होता है?

शेयर बाजार में किसी भी कम्पनी के शेयर्स खरीदने और बेचने के लिए आपको Demat account की जरूरत पड़ती है Demat account बिलकुल एक बैंक account की तरह होता है जिस तरह से हमारे पैसे हम बैंक account में जमा करवाते है उसी तरह से शेयर बाजार से खरीदे गए शेयर्स हमारे Demat account में रखे जाते है

जिस तरह से एक बैंक Account में हमारे पैसे सुरक्षित रहते है ठीक उसी तरह से हमारे द्वारा शेयर बाजार से खरीदे गए शेयर्स हमारे Demat account में सुरक्षित रहते है। शेयर बाजार में लेने देन करने के लिए Demat account का होना जरूरी होता है बिना Demat account के शेयर बाजार में लेने देन नहीं की जा सकती है।

Types Of Demat account

  1. Regular Demat account : इस Demat account से आप अपने देश के ही शेयर बाजार में निवेश कर सकते है उदाहरण के लिए एक Regular Demat account से आप भारत के स्टॉक मार्केट में ही निवेश कर सकते है और भारत की ही कम्पनियों के शेयर्स में लेन देन कर सकते है। Regular Demat account आप किसी भी CDSL या NSDL पर रजिस्टर्ड ब्रोकर से या Upstock, Groww app से बड़ी ही आसानी से और कम समय में ही खुलवा सकते है।
  2. Repatriable Demat account: रहे Demat Account NIR's के लिए होता है जो भारत के निवासी नहीं है परंतु भारत के शेयर बाजार में निवेश करना चाहते है, Repatriable Demat account के सहायता से आप विदेश में पैसों का लेन देन भी कर सकते है परंतु इसके लिए NRE बैंक खाता होना आवश्यक होता है। Repatriable Demat account खुलवाने के लिए पासपोर्ट, Pan card, Address Proof, अपनी एक फोटो और वीजा की जरूरत पड़ती है।
  3. नॉन-रिपाट्रिएबल डीमैट अकाउंट: रहे डीमैट एकाउंट भी भारत के भर रहने वाले लोगो के लिए होता है जो भारत के शेयर्स बाजार में निवेश करने की इच्छा रखते है परंतु इस डीमैट अकाउंट में पैसे को देश से बाहर नहीं भेज सकते है इस डीमैट account के लिए NRO बैंक में खाता होना जरूरी होता है।

ट्रेडिंग अकाउंट क्या होता है?

जब भी आप शेयर बाजार से कोई शेयर खरीदते हो तो उस शेयर को खरीदने के लिए आपको शेयर बेचने वाले को शेयर की किमत देनी होती है। Trading अकाउंट का काम आपके बैंक Account से पैसे शेयर बेचने वाले के account में डालना और उस से शेयर ले कर आपके Demat account में जमा करना होता है। इस तरह ट्रेडिंग अकाउंट आपके Demat account और शेयर बाजार के बीच लेने देने का कार्य करता है।

How To Open Demat & Trading account?

Demat & Trading Account kaise khole

Demat account खुलवाना काफी आसान है इसे आप ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनो तरीको से खुलवा सकते है। एक बार Demat account खुलवा लेने के बाद आप बड़ी ही आसानी से स्टॉक मार्केट में निवेश कर सकते है।


डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट ऑफलाइन कैसे खोलें?

Demat account ऑफलाइन खुलवाने के लिए आपको आपके शहर के Stock broker के पास जाना होगा जैसे HDFC सिक्योरिटीज, ICICI डायरेक्ट, Axis डायरेक्ट आदि, Stock broker के पास जाने के बाद आपको उन से Demat Account खुलवाने का फ्रॉम लेना है और उसमे सारी details भर देनी है एक बार फ्रॉम भर देने के बाद उसे वापस check जरूर कर ले कहीं कोई गलती तो नहीं हुई है। फ्रॉम भरने के बाद उसे वही जमा करा दे।

फ्रॉम जमा करने के बाद आपको KYC पूरी करनी होती है इसके लिए आपको आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ जैसे :– Aadhar Card, Pan Card, Photo आदि की जरूरत होगी एक बार आपकी KYC और पर्सन वेरिफिकेशन पूरा हो जाए तो उसके बाद आपको ब्रोकरेज फर्म के साथ टर्म ऑफ एग्रीमेंट साइन करना होता है। टर्म ऑफ एग्रीमेंट साइन करने के बाद कुछ ही दिन में आपका Demat account खुल जाता है। Demat account खुलने के बाद आपको डीमैट नंबर और एक क्लाइंट आईडी दी जाती है जो आपको स्टॉक मार्केट में लेन देन के लिए काम आती है।


डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन कैसे खोलें?

आज कल सब सारे काम ऑनलाइल हो जाता आप अपना Demat Account ऑनलाइन ही खुलवा सकते है इसके लिए आप Upstock, Groww जैसे स्टॉक ब्रोकर के App download कर ले और अपने मोबाइल नंबर और Gmail से login कर के एक account खोल ले उसके बाद आपको KYC करनी होती है जो की 5 मिनिट में हो जाती है इसके लिए आपको Pan card, Aadhar Card, Photo की जरूरत पड़ती है।

एक बार Aadhar card, Pan Card अपलोड कर देने के बाद आईडिएंटी वेरिफिकेशन के लिए एक अपनी सेल्फी लेने को कहा जाता है। इसके बाद आपसे आपका आधार कार्ड वेरिफिकेशन मागा जायेगा। आधार कार्ड वेरिफिकेशन के लिए जिस नंबर से आपका आधार कार्ड लिंक से उस पर एक OTP आएगा, OTP डालने के बाद आपका आधार कार्ड वेरिफिकेशन पूरा हो जायेगा और 2–3 दिन में आपका Demat account खुल जायेगा

Demat & Trading Account ki puri jankari Hindi me

What is the use of Demat and Trading Account?

  1. Demat account और Trading Account को शेयर मार्केट में लेन देन करने के लिए इस्तमाल किया जाता है.
  2. इस एकाउंट में आप अपने शेयर बाजार से खरीदे हुए शेयर्स को जमा कर के रखते है ठीक वैसे ही जैसे आप अपने बैंक Account में अपने पैसों को जमा करके रखते है।
  3. शेयर बाजार में निवेश करने के लिए Demat account और Trading Account का होना जरूरी है बिना इनके शेयर बाजार में निवेश नहीं किया जा सकता अगर आप शेयर बाजार में निवेश करना चाहते है तो आपके पास Demat account और Trading Account होना आवश्यक है।

Final Words

इस ब्लॉग में Demat account और Trading Account सारी जानकारी दी गई है उम्मीद है की आप को समझ आ गया होगा की Demat account और Trading Account क्या होता है अगर आपके मन में कोई भी सवाल हो तो कमेंट कर के जरूर पूछे हम जल्द से जल्द आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेगे। धन्यवाद.


Post a Comment